You are here: Homeअपना शहरराजनीतिबिहार का 33 जिला सूखाग्रस्त घोषित!

बिहार का 33 जिला सूखाग्रस्त घोषित!

Written by  Published in Politics Friday, 18 October 2013 12:27

पटना।। बिहार सरकार ने राज्य के उन 33 जिलों को बुधवार को सूखाग्रस्त घोषित कर दिया है, जिसमें औसत से 25 प्रतिशत कम बारिश हुई है।

 

पटना के एक अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बिहार राज्य मंत्रिपरिषद की हुई बैठक में राज्य के 38 जिलों में से 33 जिलों को सूखाग्रस्त घोषित किए जाने की मंजूरी प्रदान की गई।

 

बैठक के बाद मंत्रिमंडल सचिवालय समन्वय विभाग के प्रधान सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा और आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ब्यास जी ने बताया कि मंत्रिपरिषद में 33 जिलों को सूखाग्रस्त घोषित करने की मंजूरी प्रदान की गई है।

 

उन्होंने बताया कि एक जून से 11 सितंबर तक राज्य में 892 मिलीमीटर औसत बारिश के मुकाबले 668़ 6 मिलीमीटर बारिश ही हो पाई है और बारिश में करीब 25 प्रतिशत की कमी पाई गई है।

 

उन्होंने कहा कि भूगर्भीय जलस्तर में भी कमी आई है। उन्होंने कहा इन जिलों में रोजगार सृजन के उपाय किए जाएंगे। उन्होंने बताया जिन पांच जिलों को सूखाग्रस्त घोषित नहीं किया गया है उन जिलों की भी मॉनिटरिंग की जा रही है तथा प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है।

 

गौरतलब है कि इसके पूर्व ही राज्य सरकार किसानों के चार बार के पटवन के लिए डीजल में सब्सिडी देने की घोषणा कर चुकी है। बारिश नहीं होने के कारण धान की रोपाई पर इसका बुरा असर देखा जा रहा है।

Read 4561 times Last modified on Friday, 18 October 2013 12:33

फोटो गैलरी

Market Data

एडिटर ओपेनियन

एयर इंडिया निजीकरण की कोई मंशा नहीं!

एयर इंडिया निजी...

नई दिल्ली।। एयर इंडिया के विनिवेश के बार...

एसबीआई ने कमाया 12.35% का शुद्ध लाभ

एसबीआई ने कमाया...

मुंबई॥ देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टे...

इंफोसिस को जबरदस्त मुनाफा, शेयर में तेजी!

इंफोसिस को जबरद...

मुंबई।। इंफोसिस लिमिटेड ने इस वित्त वर्ष...

नैनो का CNG मॉडल लॉन्च, कीमत 2.52 लाख

नैनो का CNG मॉड...

मुंबई।। टाटा ने नैनो का सीएनजी मॉडल लॉन्...

Video of the Day

Contact Us

About Us

Anurag Lakshya is one of the renowned media group in print and web media. It has earned appreciation from various eminent media personalities and readers.