Print this page

एक ने फोन पर तो दूसरे ने खत से तलाक दिया

Written by  Published in Crime Against Women Monday, 24 April 2017 16:13

गाजियाबाद : गाजियाबाद की रहने वाली दो सगी बहनों को अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी से आस है। इन दोनों बहनों को इनके शौहर जो की सगे भाई है ने साल 2015 में तलाक दे दिया था। एक ने फोन पर तो दूसरे ने खत से तलाक दिया था। आरोप है दहेज न मिलने पर तलाक दिया गया था। मामला पुलिस और कोर्ट में किया लेकिन पीड़ितों को अभी तक कोई न्याय नहीं मिला है।

जानकारी के अनुसार गाजियाबाद के लोनी में रहने वाली इमराना और महराना का निकाह 9 जनवरी 2010 को बागपत के रहने वाले 2 दोनों सगे भाई दानिश और जफर के साथ हुआ था। आरोप है कि निकाह के बाद दोनों बहनों को ससुराल वालों ने दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था। इसी बीच दानिश और जफर सऊदी चले गए।

इमराना और महराना को उनके ससुरालवालों ने मायके भेज दिया। इसके बाद इस परिवार ने पुलिस से भी गुहार लगाई। दहेज न मिलता देख दानिश और जफ़र ने इनसे पीछा छुड़ाने की सोची और दानिश ने महराना को तो महिला थाने में ही खत पर लिखकर तलाक दे दिया जबकि जफर ने फोन पर सऊदी से इमराना को तलाक दे दिया।

Read 2243 times Last modified on Monday, 24 April 2017 16:19

Free and Full Templates

bet365.artbetting.co.uk

bet365